कर्नाटक: आज भी नहीं हो सकी विश्‍वास मत पर वोटिंग, विधानसभा सोमवार तक के लिए स्‍थगित सोनभद्र नरसंहार: 32 ट्रैक्टरों में आए 300 लोगों ने बिछा दी 10 लाशें, 61 के खिलाफ मामला दर्ज, 24 गिरफ गरीब रथ ट्रेन बंद करने की तैयारी, दो गरीब रथ ट्रेनें हो गईं मेल-एक्सप्रेस.. बढ़ गया भाड़ा भारत-जापान के बीच उन्नत मॉडल एकल खिड़की विकास पर हुआ समझौता प्रधानमंत्री डरे हुए हैं, वह सो नहीं सकते: राहुल गांधी

जोखिम भरा रास्ता तय कर बच्चे ले रहे शिक्षा का ज्ञान

जोखिम भरा रास्ता तय कर बच्चे ले रहे शिक्षा का ज्ञान

मडियादो। ग्राम पंचायत मडियादो में इंदिरा कॉलोनी को जोड़ने वाली सड़क के बीच अधूरे पुल के निर्माण से काफी लोगों को परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। वहीं इंदिरा कॉलोनी में संचालित हायर सेकेंडरी स्कूल के विद्यार्थियों को रोजाना दुर्घटना पूर्ण रास्तों से होकर गुजरना पड़ता है। अधूरे पुल एवम दुर्गम नाला से गुजरने के लिए लोग मजबूर है। बारिश के इन दिनों में नाले का पानी अधिक मात्रा में होता है लेकिन सब जानते है कि ये रास्ता दुर्गम है फिर लोग इसी रास्ते से जाते है। इंदिरा कॉलोनी में करीब सौ घर की वस्ती हैं इन लोगों का भी आने जाने का यही रास्ता है। ऐसे में यह लोग गिरते फिसलते हुए नाला पार करके आते जाते है ऐसे में यह रास्ता चुनौतीपूर्ण है।
अभिभावकों को होती है चिंता
छात्र-छात्राओं के माता पिता को बच्चों के लौटने की चिंता हर समय बनी रहती है। कुछ बच्चे आसपास के गांव से आते है उनके माता भी बच्चों को सकुशल लौटने को लेकर चिंचित है। कुछ बच्चे पानी मे भीग जाते है तो कुछ फिसलकर गिर जाते हैं, ऐसे में यदि कोई बड़ी दुर्घटना हो जाये तो इसके जिम्मेदार कोन होगा। गांव के पूर्व सैनिक अनंतराम पांडेय का कहना है कि अगर इस पुल का निर्माण समय सीमा में हो जाता तो इस वर्ष स्कूल के छात्रों एवं इन्द्रा कॉलोनी की जनता को परेशानियों का सामना नहीं करना पड़ता।
दुर्घटनाओं की ज्यादा संभावना
नाले उफान पर होने के कारण विद्याथी एवं कॉलोनी की जनता को मजबूरन नाला पार करना पड़ता है। ऐसे में नाला पार करते समय लोगो के साथ कई बार दुर्घटना हो जाती है। कई बार स्कूली छात्राएं पानी मे फिसलकर नाले में गिर गई लेकिन यह जोखिम पूर्ण रास्ता से आना-जाना लगा है।

Topics: