भारत-जापान के बीच उन्नत मॉडल एकल खिड़की विकास पर हुआ समझौता प्रधानमंत्री डरे हुए हैं, वह सो नहीं सकते: राहुल गांधी गगनयान मिशन के बारे के इसरो ने दी जानकारी 24 घंटे में दोबारा थरथराया जम्मू-कश्मीर, भूकंप से सहमे नागरिक पाक पहले आतंकियों पर कार्रवाई करें फिर होगी बातचीत : भारत

सिंगापुर के प्रधानमंत्री समेत 15 लाख लोगों का निजी डाटा चोरी

सिंगापुर के प्रधानमंत्री समेत 15 लाख लोगों का निजी डाटा चोरी

सिंगापुर के प्रधानमंत्री समेत करीब 25% आबादी यानी 15 लाख लोगों का निजी डाटा चुरा लिए। सरकार की ओर से जारी बयान के मुताबिक, हैकर्स ने यह डाटा सरकारी स्वास्थ्य विभाग के डाटाबेस पर हमला करके हासिल किए। हैकर्स के पास 1 मई 2015 से 4 जुलाई 2018 के बीच क्लीनिक गए लोगों का डाटा जिसमें लोगों के नाम, पते, सेहत और इलाज से जुड़ी जानकारियां मौजूद हैं। हालांकि, सरकार का दावा है कि हैकर्स ने किसी के डेटा में बदलाव नहीं किया है  न ही डिलीट किया है। इसके अलावा डेटाबेस में मौजूद जांच रिपोर्टों को हैक नहीं किया है।

जांच में सामने आया है कि लोगों को मैडीकल सुविधाएं देने वाले सरकार के एक मुख्य संस्थान सिंगहेल्थ के कम्प्यूटरों में वायरस भेजा गया। इसके बाद हैकर्स के लिए डाटा तक पहुंचना आसान हो गया। यह साइबर हमला 27 जून से 4 जुलाई के बीच किया गया। उन्होंने प्रधानमंत्री ली सेन लूंग का भी निजी डाटा चुराया, जिसमें उनकी दवाओं की जानकारी भी है। ली सेन दो बार कैंसर का इलाज करा चुके हैं। सिंगापुर की न्यूज वेबसाइट स्ट्रेट टाइम्स के मुताबिक, फिलहाल सिंगहेल्थ ने अपने कर्मचारियों को 28 हजार 

Source : Agency