भारत-जापान के बीच उन्नत मॉडल एकल खिड़की विकास पर हुआ समझौता प्रधानमंत्री डरे हुए हैं, वह सो नहीं सकते: राहुल गांधी गगनयान मिशन के बारे के इसरो ने दी जानकारी 24 घंटे में दोबारा थरथराया जम्मू-कश्मीर, भूकंप से सहमे नागरिक पाक पहले आतंकियों पर कार्रवाई करें फिर होगी बातचीत : भारत

चीन ने फिर दिखाई सैन्य ताकत, भारतीय सीमा के पास किया युद्धाभ्यास

चीन ने फिर दिखाई सैन्य ताकत, भारतीय सीमा के पास किया युद्धाभ्यास

चीन एक बार फिर भारत को अपनी सैन्य ताकत दिखा रहा है। चीनी सेना की स्पेशल फोर्स इन दिनों भारतीय सीमा के पास तिब्बत में सैन्याभ्यास कर रही है। पिछले दो हफ्ते के दौरान ये दूसरा मौका है कि चीनी सेना ने इन इलाकों में सैन्याभ्यास किया हो। इस दौरान हेलीकॉप्टर पायलट को जमीनी प्रशिक्षण दिया गया और साथ ही अधिक ऊंचाई वाले क्षेत्रों में उनकी क्षमता को परखा गया।

चीन की पीपल्स लिबरेशन आर्मी (PLA) के आधिकारिक अखबर पीएलए डेली के मुताबिक यह अभ्यास 4000 मीटर की ऊंचाई वाले क्षेत्र में किया गया। यहां एक काल्पनिक सीमा बनाई गई और 'दुश्मन की सीमा के पीछे जाकर' हमला करने का अभ्यास किया गया। पायलट और विशेष बल के जवानों ने हेलीकॉप्टर से छलांग लगाई और एक साथ मिशन को पूरा किया।

बता दें कि इससे पहले 29 जून को आधिकारिक मीडिया ने बताया था कि चीनी सैनिक तिब्बत में जमा हुए हैं और भारत से सटे हिमालय क्षेत्र में अभ्यास किया है। सरकारी मीडिया संस्थान ग्लोबल टाइम्स के मिलिट्री विशेषज्ञ सौंग झोंगपिंग ने कहा कि ताजा मिलिट्री अभ्यास ने सैनिकों को भारत से मुकाबला करने के लायक बनाया है। उन्होंने कहा कि किसी भी सैन्य प्रशिक्षण के लिए काल्पनिक विपक्षी ताकत का होना सामान्य सी बात है।

सॉन्ग ने कहा, 'दुश्मन की लाइन से पीछे जाकर हमला करना एक प्रभावी ऑपरेशन है जो कि युद्ध जीतने की कुंजी हो सकता है। सभी सुरक्षा बलों के लिए इस किस्म का अभ्यास मूल्यवान है। वहीं इससे पहले चीनी मीडिया में खबर थी कि चीन अरुणाचल प्रदेश की सीमा के करीब तिब्बत में मानवरहित ऑटोमेटिक ऑब्जर्वेशन स्टेशन स्थापित करने जा रहा है। ताकि यह अपने फाइटर चेट और मिसाइल लॉन्च को मौसम संबंधी जानकारी दे सके।

Source : Agency